मार्च में करें मूंगफली की खेती कमाए लाखों रुपए,heart atteck,100000,Do peanut cultivation in March,No risk farming

मार्च में करें मूंगफली की खेती,कमाए लाखों रुपए,Do groundnut cultivation in March,Earned millions of rupees

मार्च में करें मूंगफली की खेती

मार्च में करें मूंगफली की खेती

नमस्कार किसान साथियों किसान भाइयों, किसानों को आगे बढ़ने के लिए पूरे वर्ष पर खेती करना जरूरी होता है किसान साथियों गर्मी के दिनों में खेती करने की कई लाभ है अगर आपके पास में पानी की अच्छी व्यवस्था है तो आप गर्मी में खेती करके बहुत ज्यादा रुपए कमा सकते हैं मार्च में करें मूंगफली की खेती

किसान भाइयों गर्मी की खेती में ओलावृष्टि का नुकसान नहीं होता है और ना ही अतिवृष्टि होने का खतरा रहता है,न हीं फसल में ज्यादा पानी भराव की समस्या रहती है, ना ही पाला पड़ने की समस्या रहती है जो कि शीतकालीन फसल और वर्षा कालीन फसल में जो नुकसान होते हैं वह गर्मी के सीजन में नहीं होते हैं

आइए किसान भाइयों आज बात करते हैं गर्मी में मूंगफली की खेती करने की जिनसे आप बहुत ज्यादा पैसे कमा सकते हैं गर्मी में मूंगफली की खेती करने से आपके मूंगफली लगभग जून या जुलाई में हार्वेस्ट हो जाती है इसीलिए उसके भाव में बढ़ोतरी रहती है और आप गिली मूंगफली भी बेच कर ज्यादा रुपए कमा सकते हैं तो चलिए बात कर लेते हैं मूंगफली की खेती कैसे करें

मार्च में करें मूंगफली की खेती,कमाए लाखों रुपए,Do groundnut cultivation in March,Earned millions of rupees

खेत की तैयारी

किसान भाइयों मूंगफली की खेती करने के लिए जमीन का भुरभुरी होना अत्यंत आवश्यक होता है किसान साथियों जमीन को भुरभुरी करने के लिए आपको मूंगफली की खेती करने से पहले दो से तीन बार अच्छी तरह से जुताई करके फिर खाली खेत को सिंचाई कर देनी चाहिए तत्पश्चात 7-8 दिनों में जब आपके नमी कम पड़ जाए तब दो बार अच्छी तरह से जुताई करने के बाद मूंगफली की बुवाई करनी चाहिए

किसान सम्मान निधि का पैसा मिल गया ? chack here

खाद और उर्वरक

मूंगफली के खेत में खाद की इस प्रकार से आवश्यकता रहती है किसान साथियों मूंगफली के खेत की तैयारी करते समय अंतिम जुताई से पहले एक ट्रॉली सड़ी हुई गोबर की खाद डालनी चाहिए

इसके अलावा रासायनिक खाद के तौर पर डीएपी 10 किलो प्रति बीघा के हिसाब से डालना चाहिए इसके साथ में सुपर फास्फेट 40 से 50 किलो प्रति बीघा के हिसाब से खेत की अंतिम जुताई के साथ डालें

पीली मिट्टी में पोटाश की मात्रा थोड़ी ज्यादा रहती है इसीलिए पीली मिट्टी में 5 से 6 किलो पोटाश डालना चाहिए और काली मिट्टी में 10 किलो प्रति बीघा के हिसाब से पोटाश जरूर डालें मूंगफली में दाना अच्छा बनने के लिए और अच्छी क्वालिटी का बनाने के लिए पोटाश आवश्यक होता है

मार्च में करें मूंगफली की खेती,कमाए लाखों रुपए,Do groundnut cultivation in March,Earned millions of rupees

मूंगफली की किस्में

किसान भाइयों मूंगफली की अच्छी पैदावार के लिए मूंगफली की किस्म का बहुत ज्यादा योगदान रहता है इसीलिए मूंगफली की किस्में चुनने में सावधानी बरतें और अच्छी किस्म जो आपके क्षेत्र में अच्छा उत्पादन देती है वह किस्में चयन करें

बीज की मात्रा

किसान भाइयों मूंगफली की बीज की मात्रा सही रखने से पौधे से पौधे की दूरी अच्छी रहती है जिनसे हवा और ऑक्सीजन मिट्टी में प्रवेश करें पौधे की विकास दर अच्छी हो जिनसे आपको उत्पादन काफी ज्यादा मिले

किसान भाइयों मूंगफली का बीज प्रति बीघा में 20 किलो से लेकर 25 किलो लेना चाहिए

मूंगफली का बीज उपचार

किसी भी फसल का बीज उपचार अति आवश्यक होता है बीज उपचार करने से बहुत सारे रोगों से बचा जा सकता है इसीलिए मूंगफली के बीज को उपचारित करके यह बोना चाहिए

किसान भाइयों मूंगफली बीज को उपचारित करने के लिए नीम के तेल का प्रयोग करें नीम के तेल से उपचारित करने से मूंगफली के जड़ में लगने वाले रोग वह कीड़ों से बचाव कर सकते हैं इसके अलावा आप वेस्ट डी कंपोजर से भी बीज उपचारित कर सकते हैं

बुवाई के तरीके

किसान साथियों आज के जमाने में अक्सर सभी प्रकार की फसलों की बुवाई सामान्यत सीड ड्रिल मशीन को ट्रैक्टर से जोड़कर की जाती है

किसान भाइयों मूंगफली की बुवाई के लिए बैलों से बुवाई करना फायदेमंद रहता है क्योंकि बैलों से बुवाई करने से जमीन टाइट नहीं होती क्योंकि जहां बैलों के पैर रखे जाते हैं सिर्फ वहां पर जमीन टाइट होती है

जबकि ट्रैक्टर के टायर घूमने से जमीन ज्यादा पिटती है इसीलिए अगर आपके पास में उपलब्ध है तो बैलों से बुवाई करें अगर बैल उपलब्ध नहीं है तो फिर सीड ड्रिल मशीन से बुवाई करनी चाहिए

मूंगफली के रोग और उपचार

किसान साथियों मूंगफली की गर्मी की फसल में रोग कम ही आते हैं फिर भी पत्तों पर काले धब्बे पड़ने का रोग लग जाता है इसके बचाव के लिए आपको बीज उपचार करना आवश्यक होता है बीज उपचार करने से इस रोग से बचा जा सकता है

अगर खड़ी फसल में यह रोग आता है तो आप मेटालेक्सिल + मैनकोज़ेब का 2 ग्राम प्रति लीटर पानी में गोल कर स्प्रे करें

मूंगफली की कटाई

किसान साथियों गर्मी की फसल के मूंगफली को उखाड़ने से पहले पास के और दूर के बाजार में भाव जांच कर लेना चाहिए

क्योंकि गर्मी की मूंगफली के दाम आप अच्छे कमा सकते हैं अगर आप अच्छे मार्केट में जाकर इसके भाव के बारे में पता करेंगे तो जब भाव ज्यादा मिल रहे हो तब आप मूंगफली को उखाड़ कर सीधे तोड़कर पैक करके बाजार में भेज सकते हैं

जून-जुलाई में गीली मूंगफली को अधिक खाया जाता है इसीलिए दूर और पास के मंडी में भाव की जांच करके ही मूंगफली की हार्वेस्टिंग करें

सभी खेती की जानकारी एक क्लिक में

                                click here

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *